International

बाढ़ के बाद तूफान, प्रकृति के कहर से चीन बेहाल

Edited By Priyesh Mishra |

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

चीन में बाढ़ से हालात बेकाबूचीन में बाढ़ से हालात बेकाबू

हाइलाइट्स

  • प्रकृति के कहर से जूझ रहा चीन, बारिश और के बाद बाढ़ के बाद तूफान से डरे लोग
  • 25 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चीन की ओर बढ़ रहा तूफान हागूपिट, यलो अलर्ट जारी
  • बाढ़ के कारण चीन में 20 लाख से ज्यादा लोग विस्थापित, नए इलाकों में बढ़ रहा पानी

पेइचिंग


चीन इन दिनों प्रकृति के कहर से जूझ रहा है। लगातार हो रही भारी बारिश के बाद आई बाढ़ से 1 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित हैं। जिसके बाद करीब 20 लाख लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। वहीं, पूर्वी चीन में सोमवार को तूफान के कारण भारी बारिश की संभावना के चलते संवेदनशील तटीय क्षेत्रों को खाली कराया जा रहा है।





90 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही हवा


तूफान हागूपिट में सुबह 90 किलोमीटर प्रति घंटे रफ्तार की हवाएं चलीं और यह 25 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। चीन के राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि हागूपिट तूफान झेजियांग और फुजियान प्रांतों के बीच समुद्र तट से टकरा सकता है। इसका असर शंघाई में भी महसूस हो सकता है।

चीन से भागे वैज्ञानिक का दावा, ड्रैगन ने मिलिट्री लैब में बनाया था कोरोना

समुद्र से लोगों को दूर रहने की सलाह


फुजियान में समुद्र तटों पर मछली पकड़ने में लगे लोगों को निकाला गया है, वहीं पर्यटन स्थलों को बंद कर दिया गया तथा निर्माण स्थलों को कामकाज रोकने का आदेश दिया गया है। मछुआरों से मछली पकड़ने की नौकाओं को समुद्र में नहीं लाने को कहा गया है। चीन में इस साल तूफान का मौसम अपेक्षाकृत हल्का रहा है।

आपसी प्रतिस्पर्धा में चीनी डिजाइनर ने स्वीकारा सच

  • आपसी प्रतिस्पर्धा में चीनी डिजाइनर ने स्वीकारा सच

    साउथ चाइना मॉर्निग पोस्ट के अनुसार, अमेरिका से बढ़े तनाव के बीच चीन की सैन्य विमान निर्माता कंपनियां एयरक्राफ्ट कैरियर से ऑपरेट होने वाले फाइटर जेट को बनाने की होड़ में जुटी हैं। इनमें पहली सरकारी कंपनी चेंगदू एयरक्राफ्ट डिजाइन इंस्टीट्यूट (सीएडीआई) हैं, जो अपने जे -20 के संशोधित संस्करण पर काम कर रही है। वहीं दूसरी सरकारी कंपनी शेनयांग एयरक्राफ्ट डिजाइन इंस्टीट्यूट है जो एफसी -31 जेट को बना रही है।

  • अमेरिकी डिजाइन पर आधारित है जे-20

    चीनी पत्रिका एक्टा एरोनॉटिका एट एस्ट्रोनॉटिका सिनिका में प्रकाशित एक हालिया लेख में चेंगदू एयरक्राफ्ट डिजाइन इंस्टीट्यूट के मुख्य डिजाइनर यांग वी ने कहा कि उनका विमान अमेरिकी एयर कॉम्बेट और जेट डिजाइनिंग के सिद्धांत पर आधारित है।

  • जे-20 को प्रमोट कर रहा चीन

    चीन के सैन्य विशेषज्ञों ने कहा कि खुले तौर पर यांग वी का यह स्वीकार करना कि उसका प्लेन अमेरिकी डिजाइन पर आधारित है, यह संस्थान की सोची समझी रणनीति का हिस्सा है। यांग अपने मोडिफाइड जे-20 को प्रमोट करने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि उनकी प्रतिद्वंदी एयरक्राफ्ट एफसी -31 रूस की पुरानी डिजाइन पर आधारित है।

  • एफसी-31 को विकसित करने में लगेगा 10 साल

    अपने लेख में यांग वी ने आगे कहा कि अमेरिकी नौसेना ने अपने कैरियर बेस्ट फाइटर जेट्स को विकसित कर 6 साल से भी कम समय में प्रोडक्शन शुरू कर दिया। अगर चीनी नेतृत्व उनके फाइटर जेट को छोड़कर एफसी-31 को पसंद करता है तो इसकी तैनाती करने में करीब 10 साल का समय लगेगा। इस दौरान अमेरिका कोई नया जेट विकसित कर लेगा।


बाढ़ से लाखों हेक्टेयर फसल तबाह


चीन की सरकारी मीडिया के अनुसार 20 लाख लोगों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्र से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। बाढ़ के कारण 8 लाख हेक्टेयर में कृषि उत्पाद प्रभावित हुए हैं। च्यांगशी प्रांत के अलावा, हूपेई और हूनान प्रांत में भी स्थिति गंभीर बनी हुई है। नागरिकों की जान-माल सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय सरकार ने लोगों को सुरक्षित जगह स्थानांतरित कर दिया है।

देश-दुनिया और आपके शहर की हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें और पाते रहें हर जरूरी अपडेट।

Related Articles

Close