International

राम मंदिर पर चिढ़ा पाक, नेपाल से आई बधाई

Edited By Shatakshi Asthana |

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर से जुड़ीं बड़ी बातें

अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर से जुड़ीं बड़ी बातें

हाइलाइट्स

  • अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर नेपाल और पाकिस्तान की प्रतिक्रिया
  • नेपाल के पूर्व डेप्युटी पीएम कमल थापा ने दी भारत सरकार को बधाई
  • पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय का बयान, राम मंदिर निर्माण का विरोध

काठमांडू/इस्लामाबाद


भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखी दी। इसके बाद देश ही नहीं, दुनियाभर से प्रतिक्रियाएं आने लगी हैं। इसमें सबसे अहम भारत के दो पड़ोसी देश हैं- नेपाल और पाकिस्तान। नेपाल के पूर्व डेप्युटी पीएम कमल थापा ने जहां मंदिर निर्माण के लिए बधाई दी है, वहीं पाकिस्तान ने


विरोध किया है।


पाकिस्तान ने किया विरोध, नेपाल ने दी बधाई


पाकिस्तान का कहना है कि जहां बाबरी मस्जिद 5 सदियों से खड़ी थी वहां मंदिर बनाए जाने की वह निंदा करता है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के जनसंपर्क अधिकारी ने कहा है कि भारत के सुप्रीम कोर्ट के गलत फैसले की वजह से मंदिर निर्माण का रास्ता खुला है। दूसरी ओर, कमल थापा ने ट्वीट किया है- ‚अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन होना दुनियाभर के हिंदुओं के लिए ऐतिहासिक और भावुक पल है। भगवान राम पूरी मानवजाति के लिए सभ्यता और प्रेरणा की मिसाल हैं। उम्मीद है कि यह दिन शांति, दोस्ती, भाईचारे और सौहार्द के नए युग में कदम रखेगा। भारत सरकार को बधाई।‘

राम मंदिर की नींव रख बोले मोदी, सदियों का सपना पूरा हुआ, आज पूरा भारत भावुक

इमारतें नष्ट, मन में बसे हैं राम: PM मोदी


इससे पहले अयोध्या में मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी ने चांदी की ईंट रखने के बाद कहा, ‚आप भगवान राम की अदभुत शक्ति देखिए। इमारते नष्ट हो गईं, क्या कुछ नहीं हुआ अस्तित्व मिटाने का हर कोई प्रयास हुआ। बहुत हुआ। लेकिन राम आज भी हमारे मन में बसे हुए हैं। हमारी संस्कृति के आधार हैं। श्रीराम भारत की मर्यादा हैं। श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं। इसी आलोक में अयोध्या मे राम जन्मभूमि पर श्रीराम के इस भव्य, दिव्य मंदिर के लिए आज भूमि पूजन हुआ है।‘


नेपाल पीएम के बयान पर हुआ था विवाद


वहीं, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने दावा किया था कि नेपाल ने भारत में स्थित अयोध्या के राजकुमार को सीता नहीं दी। बल्कि नेपाल के अयोध्या के राजकुमार को दी थी। अयोध्या एक गांव हैं जो बीरगंज के थोड़ा पश्चिम में स्थित है। भारत में बनाया गया अयोध्या वास्तविक नहीं है। ओली ने तर्क दिया कि अगर भारत की अयोध्या वास्तविक है तो वहां से राजकुमार शादी के लिए जनकपुर कैसे आ सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि विज्ञान और ज्ञान की उत्पत्ति और विकास नेपाल में हुआ।

अयोध्या में भूमि पूजन, काशी में मुस्लिम महिलाओं ने की राम आरती

अयोध्या में भूमि पूजन, काशी में मुस्लिम महिलाओं ने की राम आरती


पाक ने की निंदा, नेपाल से आई बधाई

पाक ने की निंदा, नेपाल से आई बधाई

Related Articles

Close