International

NASA-SpaceX तैयार, Falcon 9 लॉन्च की हुई रिहर्सल

ऐतिहासिक कदम की ओर NASA: रिहर्सल पूरी, SpaceX के Falcon 9 लॉन्च का इंतजारसाल 2011 के बाद से पहली बार अमेरिका की धरती से NASA अपने ऐस्ट्रोनॉट्स को अंतरिक्ष में भेजने जा रहा है। वेटरन ऐस्ट्रोनॉट्स बॉब बेन्केन और कर्नल डग हर्ली बुधवार को Elon Musk की SpaceX के Falcon 9 में उड़ान भरेंगे। इससे पहले फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर में लॉन्च की ड्रेस रिहर्सल की गई। ऐसा पहली बार हो रहा है कि सरकार की जगह कोई निजी कंपनी अंतरिक्षयात्रियों को अंतरिक्ष में भेजेगी। दोनों ऐस्ट्रोनॉट्स International Space Center के लिए उड़ान भरेंगे और वहां तक कार्गो लेकर जाएंगे।

बॉब और डग बनाएंगे इतिहास

NBT

टेस्ट फ्लाइट के दौरान SpaceX के क्रू ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम का एंड-टू-एंड डिमॉन्स्ट्रेशन किया गया। बुधवार को केनेडी स्पेस सेंटर के लॉन्च कॉम्प्लेक्स 39A से ही लॉन्च होना है। इससे पहले स्पेस शटल प्रोग्राम के 2011 में खत्म होने के बाद से कोई अमेरिकी रॉकेट अमेरिका की मिट्टी से लॉन्च नहीं किया गया। अमेरिका के ऐस्ट्रोनॉट्स को रूस के रॉकेट्स में लेकर स्पेस जाया जाता था। अब दो वेटरन ऐस्ट्रोनॉट्स इतिहास बनाने जा रहे हैं।

पलटी मार सकता है मौसम

NBT

अब लॉन्च में कुछ दिन ही बाकी रह गए हैं। इससे पहले अमेरिकी एयरफोर्स के 45वें वेदर स्वॉड्रन ने अनुमान जताया है कि लॉन्च के वक्त मौसम के अनुकूल रहने के 40% चांस हैं। अनुमान जताया गया है कि केनेडी कॉम्प्लेक्स में बादल हो सकते हैं या बारिश और तूफान भी आ सकता है। अगर किसी वजह से बुधवार को लॉन्च नहीं हुआ तो अगली कोशिश शनिवार 30 मई को की जाएगी।

‚टैक्सी‘ राइड है ये

NBT

इस लॉन्च की खास बात यह भी है कि एजेंसी ने Boeing और SpaceX के साथ जो कॉन्ट्रैक्ट किया है, उसके तहत ये वीइकल्स नासा के नहीं होंगे। नासा को सिर्फ इस ‚सफर का टिकट‘ मिलेगा। इसलिए इसे टैक्सी सर्विस भी कहा जा रहा है। ये दोनों कंपनियां दूसरी एजेंसियों या कंपनियों को भी अपने वीइकल्स बेच सकती हैं। इस मिशन को पूरा होने में तय समय से पांच साल ज्यादा का वक्त लगा लेकिन SpaceX ने Boeing को पछाड़ दिया।

ऐसे ISS पहुंचेगा

NBT

Falcon 9 रॉकेट 17,000 मील प्रतिघंटा की रफ्तार से ऐस्ट्रोनॉट्स को लेकर जाएगा और ISS के इंटरसेप्ट कोर्स में लॉन्च कर देगा। ऑर्बिट में आने के बाद क्रू और मिशन कंट्रोल उसके कंट्रोल सिस्टम, डिस्प्ले, मनूवरिंग थ्रस्टर को वेरिफाई करेंगे। करीब 24 घंटे बाद क्रू ISS पर डॉक कर सकेगा। स्पेसक्राफ्ट यह स्टेप खुद भी कर सकता है लेकिन ऐस्ट्रोनॉट्स इसे मॉनिटर करेंगे।

Get latest America news headlines, American political news, sports news, all breaking news and live updates. Stay updated with us to get latest news in Hindi.

Related Articles

Close